Sote Waqt, Subah Uthne Ki Dua in Hindi

सोते वक्त की दुआ और सुबह उठने की दुआ – Sote Waqt aur Subah Uthne ki Dua

अगर आप sote waqt ki dua और subah uthne ki dua ढूंढ रहे है तो यह पेज आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है| आज हम आपको सोने से पहले की दुआ (sone se pehle ki dua) और सुबह उठने की दुआ के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है, यह तो हम सभी भली भाँति जानते ही है की दुआ में इतनी ताकत होती है जो एक मरते हुए इंसान को भी जिन्दा कर सकती है| मुस्लिम धर्म को दुनिया के सबसे बेहतर धर्मो में से एक माना जाता है, हमारे धर्म में अलग अलग चीजों के लिए अलग अलग दुआ होती है जिन्हे पढ़ने से बहुत ज्यादा फायदा होता है| चलिए अब हम आपको सोने से पहले की दुआ (Sone waqt ki dua in hindi) और सुबह उठने की दुआ (subah uthne ki dua hindi mein) के बारे में बताते है – 

सोने से पहले की दुआ (Sote waqt ki dua in Hindi ) क्यों पढ़नी चाहिए ?

इस्लाम में सोने से पहले की दुआ (sone se pehle ki dua) पढ़ना बहुत ही फायदेमंद माना जाता है, दरसल यह तो सभी जानते ही है की जब कोई भी इंसान सोता है तो उसकी रूह शरीर से निकल जाती है| कुछ लोगो का मानना है की शरीर में से रूह निकल कर अल्लाह के पास पहुँच जाती है और कुछ लोगो का मानना है की रूह शरीर से निकलकर घूमने चली जाती है इस बारे में अलग अलग लोगो के मत अलग अलग है| लेकिन सबकी बातो में एक बात कॉमन है वो है की रूह शरीर से निकल जाती है| जिन लोगो की रूह शरीर में वापिस आ जाती है वो इंसान सुबह उठ जाता है और जिन इंसानो की रूह उनके शरीर में वापिस नहीं पहुँचती है वो सुबह उठ नहीं पाते है| इसलिए सोने से पहले की दुआ (sote waqt ki dua ) पढ़ना जरुरी है, दुआ पढ़ने के बहुत सारे फायदे भी है, अगर आप सोने से पहले सोने की दुआ (sone se pehle ki dua in hindi) पढ़कर सोते है तो फरिश्ते रात भर आपकी और आपकी रूह की हिफाजत करते है और आपके ऊपर आने वाली आफत या बलाय से भी बचाते है| कुछ लोगो का मानना है की दुआ इसीलिए भी पड़नी चाहिए जिससे खुदा हमारी रूह को सही सलामत सुबह हमारे शरीर में भेज दें जिससे हम सुबह सही सलामत उठें| चलिए अब हम आपको रात को सोने की दुआ पढ़ने से कया करना चाहिए इसके बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • सोने जाने से पहले अपने हाथ, पैर और मुंह को धो लें|
  • सोने से पहले आप जिस भी कमरे में सोने वाले है उस कमरे के दरवाज़े को बंद करने से पहले बिस्मिल्लाह पढ़ें फिर फूककर दरवाजे को बंद कर लें|
  • जिस बिस्तर पर आपको सोना है उसे अच्छी तरह से तीन बार झाड़ लें|
  • फिर बिस्तर पर आराम से सोने से पहले की दुआ को पढ़ लें, दुआ पढ़ने के बाद सो जाएं
  • ख्याल रखें की जब आप सोएं तो दाहिनी तरफ करवट लेकर सोएं

Sone Ki Dua in Arabic | सोने की दुआ अरबी में

اَللّٰهُمَّ بِاسْمِكَ أَمُوتُ وَأَحْيَا

ترجمہ: اے اللّٰہ تیرےہی نام کے ساتھ میں مرتا ہوں اور زندہ ہوتا ہوں

सोने की दुआ हिंदी में | Sote Waqt Ki Dua in Hindi

अल्लाहुम्म बिस्मि-क अमूतु व अहया

तर्जुमा: ए अल्लाह तेरे ही नाम के साथ में मरता हु और ज़िंदा होता हू

(सहीह बुखारी 6324)

Sone Waqt Ki Dua Roman English Me | सोने की दुआ

Allahumma Bismika Amootu Wa Ahayaa

तर्जुमा: Eye Allah tere hi naam ke saath me marta hun aur zinda hota hun.

Sote Waqt ki Dua Images

Sote waqt ki dua image

 सुबह उठने की दुआ (Subah uthne ki dua hindi mein ) क्यों पढ़नी चाहिए

जिस तरह इंसान को सोने से पहले सोने की दुआ पढ़कर सोना चाहिए उसी तरह प्रत्येक इंसान को सुबह उठने की दुआ भी पड़नी चाहिए| काफी सारे इंसान यह सोचते है की सुबह उठने की दुआ पढ़ने के कया फायदे है? या सुबह उठने की दुआ क्यों पढ़नी चाहिए? | सुबह उठने की दुआ के फायदे भी काफी सारे होते है, जब कोई भी इंसान सुबह सोकर उठता है तो सबसे पहले उसे खुदा का शुक्रिया अदा करना चाहिए की खुदा ने उसे सुबह देखने का मौका दिया| सुबह उठते ही खुदा का नाम लेने से आपको दिन अच्छा गुजरता है और अल्लाह की रहमत इंसान पर बनी रहती है, इसीलिए प्रत्येक इस्लाम धर्म को मानने वाले इंसान को सुबह उठने की दुआ जरूर पढ़नी चाहिए, खुदा अपने बंदो का खास ख्याल रखता है| चलिए अब हम आपको सुबह उठने की दुआ पढ़ने से पहले कया करना चाहिए इसके बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है 

  • सुबह आँख खुलते ही दुआ नहीं पढ़नी चाहिए, सुबह आँख खुलने के बाद सबसे पहले अपने हाथो को अच्छी तरह से धोना चाहिए क्योंकि रात में सोते समय इंसान के हाथ अनजाने में शरीर के अंगो को छू लेते है, इसीलिए सुबह उठने की दुआ पढ़ने से पहले अपने दोनों हाथो को जरूर धोएं|
  • सुबह उठने के बाद एक ग्लास पानी पीना चाहिए क्योंकि रात भर खाना और पानी ना मिलने के कारण परेशानी हो सकती है, इसीलिए एक गिलास पानी पीना चाहिए इससे शरीर को एनर्जी भी मिलती है|
  • सुबह उठने के बाद अपने बिस्तर को साफ़ कर लें और बिस्तर को समेट दें|
  • सुबह उठ कर ब्रश करें|
  • दिन की शुरुआत क़ुरान पाक पढ़कर करनी चाहिए|

Subah uthne ki दुआ पढ़ने के फायदे क्या-क्या है

अक्सर कुछ लोगो के मन में यह सवाल भी आता है की दुआ पढ़ने के फायदे कौन कौन से है? चलिए हम आपको दुआ पढ़ने के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है| जो भी इंसान दुआ को पढ़ता है उस पर खुदा की रहमत बनी रहती है और जिस पर अल्लाह की रहमत होती है उसके जीवन में किसी भी प्रकार का दुःख नहीं होता है, खुदा उसे उसके जीवन में आने वाली परेशानियो से बचाता है, रोजी रोटी में बरकत होती रहती है, पैसो का आभाव नहीं रहता है इत्यादि फायदे होते है| इसलिए प्रत्येक मुस्लमान या इस्लाम को मानने वाले इंसान को दुआ जरूर पढ़नी चाहिए

Subah Uthne Ki Dua in Arabic | So Kar Uthne Ki Dua | सुबह उठने की दुआ

اَلْحَمْدُ لِلَّهِ الَّذِي أَحْيَانَا بَعْدَ مَا أَمَاتَنَا وَإِلَيْهِ النُّشُورُ

ترجمہ : سب تعریفیں اس اللہ کے لیے ہیں جس نے ہمیں موت کے بعد زندگی دی اور اسی کی طرف اٹھ کر جاناہے

Subah Sokar Uthne Ki Dua in Hindi | सुबह उठने की दुआ

अल्हम्दु लिल्लाहिल लज़ी अहयाना बअ-द-मा अमा तना व इलैहिन् नुशूर
(सहीह बुखारी 6324)

तर्जुमा हिंदी में: सब तारीफें उस अल्लाह के लिये हैं जिस ने हमें मौत के बाद ज़िंदगी दी और उसी की तरफ़ उठ कर जाना हैं

Subah Uthne Ki Dua in Roman English | सुबह उठने की दुआ

Alhamdu lillahil lazee ahyaanaa ba’a damaa amaa tanaa wa ilaihin nushoor

Tarjuma: Sab tareefen us Allah ke liye hai jis ne hamen maut ke baad zindagi dee aur usee ki taraf uth kar jana hai.

Achanak Neend Khulne Ki Dua | अचानक नींद खुलने की दुआ

لَا اِلٰہَ اِلَّا اللہُ وَحْدَہٗ لَا شَرِیْکَ لَہٗ، لَہُ الْمُلْکُ وَلَہُ الْحَمْدُ، وَھُوَ عَلیٰ کُلِّ شَيْ ءٍ قَدِیْرٌ۔اَلْحَمْدُ لِلّٰہِ وَ سُبْحَانَ اللہِ وَ لَا اِلٰہَ اِلَّا اللہُ وَاللہُ اَکْبَرُ وَلَا حَوْلَ وَلَا قُوَّۃَ اَلَّا بِاللہِ، اَللّٰھُمَّ اغفِرْلِيْ

दुआ हिंदी में: ला इला-ह इल्लल्लाहु वहदहु ला शरि-क लहु, लहुल मुल्कु व लहुल हमदु, व हुवा अला कुललि शैइन क़दीर अल्हम्दु लिल्लाहि व सुब्हानल्लाहि व ला इला-ह इल्लल्लाहु वल्लाहु अकबरु व ला हौला वला क़ुव्व-त इल्ला बिल्लाहि,अल्लाहुम्मग़ फ़िरली
(सहीह बुख़ारी 1154)

होम पेज यहाँ क्लिक करें

Also Read: 

Leave a Comment