इस्लाम में वेस्टर्न टॉयलेट/ कमोट इस्तेमाल करने का सही तरीका क्या है?

वेस्टर्न टॉयलेट/ कमोट इस्तेमाल करने का सही तरीका क्या है? क्या इसे इस्तमाल करने से हम नापाक/ नजिस हो जाते हैं? (How to Use Western Toilet in Islam)

जवाब। आज हम इन सब बातों पर ध्यान देंगे की इस्लाम में हर चीज़ का हल दिया है, कोई भी चीज़ का इस्तमाल करने से पहले उसके बारे में जानना ज़रूरी है। चूकी वेस्टर्न टॉयलेट आज सारे मुल्क में मौजूद है तो कहीं ना कहीं हमें इसे इस्तेमाल करना पड़ता ही है। इसलिए इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका आपको जानना चाहिए ताकि आप गुमराही से बच सकें

आइये जानते है की कमोट का इस्तमाल करने का सही तरीका क्या है-

1. जब कमुत का इस्तमाल करे अगर आपको उस वक्त कोई नजासत जाहिर न हो रही हो तो लेहाजा उस वक्त वो नजीज नहीं है. लेकिन इस तरह से बैठिए कि आपके ऊपर टॉयलेट की छीट ना पड़े और अगर आपको शक है तो आप उस को पाक करले जहां छीट पड़ी हो।

2. अगर आपको शक है कि सीट नजिस है तो आप टिश्यू पेपर या अखबार को अच्छे से बिछाले और इस्तमाल करें इसे नजासत आपके बदन में नहीं लगेगी।

3. या फिर सीट को पानी से अच्छी तरह से पाक करले। तो ये थे कुछ अहम पॉइंट्स।

अब हम दूसरे सवाल की तरफ चलते हैं.

सवाल 2. क्या हम टॉयलेट में वज़ू कर सकते हैं?

जवाब. बिल्कुल कर सकते है कोई पाबंदी नहीं है. आपका वजू भी सही है. लेकिन कुछ बातों का ख्याल रखिए कि वजू का पानी नाली या गटर में ना जाए लेहाजा किचन या वॉशरूम वगैरा में वजू कर सकते है.

 कमोट इस्तेमाल करने के फायदे in Islam

कमोट इस्तेमाल करने के लिए कुछ चीज़े अच्छी है इसको इस्तेमाल करने के बाद इसे ढाका जा सकता है क्योंकि जितनी भी गलत अरवाह है वो यही से आती है, इस्लाम में हुकम है की सर को धाक के टॉयलेट जाए. लेहजा आप सब भी कोशिश कीजिए कि टॉयलेट इस्तमाल करने के लिए इसे बंद कर दीजिए।

उम्मीद है कि ये पोस्ट आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। अगर आपको कोई सवाल का जवाब हासिल करनाा हो तो आप अपने सवाल कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है. हमारी पोस्ट को और लोगो के साथ शेयर करें ताकि पैगामे इस्लाम ज़्यादा से ज़्यादा आम हो सके। इंशाअल्लाह नई पोस्ट के साथ आपके सामने पेश होंगे.

Also Read:

Mojiza of Maula Ali Mushkil Kusha Hazrat Ali – Hazrat Ali ka Mojiza

4 Asmani Kitabon ke Na

Darood e Taj in Hindi

Leave a Comment