Surah Ikhlaas in Hindi , Tarjuma – सूरह इख्लास

Surah Ikhlaas in Hindi – सूरह इख्लास तर्जुमा

सूरह इखलास, जिसे कुलहु वल्लाहू भी कहा जाता है, कुरान की एक बहुत ही अहम सूरह है। यह कुरान की 112वीं सूरह है और इसमें केवल चार आयतें हैं। हालांकि यह सूरह छोटी है, लेकिन इसका असर बहुत ही ज़्यादा है। Surah Ikhlaas नमाज़ की दूसरी रकात में पढ़ी जाती है। जो लोग Surah Ikhlaas अरबी में नहीं पढ़ सकते है उनके लिए हम Surah Ikhlaas in Hindi शेयर कर रहे हैं हमें उम्मीद है की यह ब्लॉगपोस्ट आपके लिए काफी मददगार साबित होगा।

सूरह इखलास को कुरान का एक चौथाई भाग कहा जाता है। इसका अर्थ यह है कि इस सूरह का महत्व उतना ही अधिक है जितना कुरान का चौथाई भाग का । यह सूरह अल्लाह की एकता पर जोर देती है और यह सिखाती है कि अल्लाह जैसा कोई नहीं है।

कहा जाता है कि सूरह इखलास उस वक़्त नाज़िल हुई थी जब मक्का के कुछ लोगों ने पैगंबर मुहम्मद से अल्लाह के बारे में एक छोटा और स्पष्ट विवरण माँगा था। इस सूरह में अल्लाह के एक होने को बहुत ही आसान और स्पष्ट तरीके से बताया गया है जो सभी को समझ में आता है।

सूरह इखलास हिंदी में – Surah Ikhlaas in Hindi

बिस्मिल्ला–हिर्रहमा–निर्रहीम

कुल हुवल लाहू अहद

अल्लाहुस समद लम यलिद

वलम यूलद वलम यकूल लहू कुफुवन अहद

सूरह इखलास का हिंदी में तर्जुमा – Surah Ikhlaas Tarjuma in Hindi

शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो बहुत बड़ा मेहरबान व निहायत रहम वाला है।

आप कह दीजिये कि अल्लाह एक है

अल्लाह बेनियाज़ है

वो न किसी का बाप है न किसी का बेटा और न कोई उस के बराबर है

Surah Ikhlas in English

Kul hoval lahu ahad allah hus samad,

lam yallid walam yulad, walam yakul lahu, kufuvan ahad.

Surah Ikhlas in Arabic Text

قُلْ هُوَ ٱللَّهُ أَحَدٌ ٱللَّهُ ٱلصَّمَدُ لَمْ يَلِدْ وَلَمْ يُولَدْ وَلَمْ يَكُن لَّهُۥ كُفُوًا أَحَدٌۢ

सूरह इखलास एक छोटी लेकिन बहुत ही असरदार सूरह है जो हर मुसलमान के लिए नियमित रूप से पढ़नी चाहिए। इस सूरह के कई फायदे हैं और यह एक ऐसा तोहफा है जिसे अल्लाह ने हमें दिया है

Also Read: 

Leave a Comment