होली पर निबंध हिंदी में – Essay on Holi in Hindi

होली पर निबंध हिंदी में (Essay on Holi in Hindi) – इतिहास, महत्व, 400 से 700 शब्दों में होली पर हिंदी में निबंध

होली का त्योहार बहुत ही प्रसिद्ध त्योहार है। होली भारतीय त्योहार में से एक त्योहार माना जाता है। होली रंगो का त्योहार है जिसे बच्चे, बूढ़े और हर उम्र के लोग मनाते है। इसे हर गरीब से गरीब और अमीर से अमीर इंसान इस त्योहार को बहुत ही खूबसूरती से मनाता है। हमारे इस पोस्ट में (Essay on Holi in hindi) होली त्योहार के बारे में सारी जानकारी दी गई है। जिसकी मदद से आप होली विषय पर निबंध लिख सकते है। उम्मीद है की आपको हमारी इस पोस्ट से (holi pe nibandh in hindi) जानकारी प्राप्त होगी।

holi pe nibandh

प्रस्तावना (Introduction)-

होली का त्योहार हिन्दू धर्म का सबसे खास त्योहार में से एक त्योहार है। इस त्योहार को रंगो के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार बड़ी ही उमग और जोश से मानाया जाता है। यह पर्व फागुन महीने के शुरुवात के सर्दी को विदाई देते हुए बड़े ही उल्लास और उमग के साथ मनाया जाता है। इसकी शुरुआत फागुन मास की पूर्णमासी के दिन होलिका दहन किया जाता है। इस दिन सभी लोग एक दूसरे को गले और गुलाल लगा के मुबारकबादी देते है। इस त्योहार में होली खेलने के बाद रात में हर इंसान अपने पुराने गिले शिकवे भूल कर एक दूसरे के घर मुबारकबाद लेके जाते है। होली का त्योहार न केवल भारत में बल्कि नेपाल, अमेरिका, कनाडा, दुबई जैसे कई अन्य देशो में बड़ी ही उत्साह के साथ मनाया जाता है।

होली पर निबंध (Essay on Holi in Hindi) – होली कब और क्यों मनाई जाती है?

होली का आदान-प्रदान पौराणिक कथाओं में सुन्हेरे रंग से भरा हुआ है, और इसका मुख्य कथा विष्णुपुराण से जुड़ी है। कथा के अनुसार, दैत्यों के राजा हिरण्यकश्यप ने अपने राज्य में भगवान विष्णु की पूजा को निषेधित किया था, लेकिन उसके पुत्र प्रह्लाद ने भगवान की अद्वितीय भक्ति में लगा रहा। हिरण्यकश्यप को इसका स्वीकार नहीं था, और उसने प्रह्लाद को मारने का आदेश दिया। प्रह्लाद को विभिन्न तरीकों से मारने के बावजूद, वह भगवान के प्रति अपनी अद्वितीय भक्ति में निरंतर बना रहा।

अद्भुत रूप से, हिरण्यकश्यप की बहन होलिका को एक वरदान मिला था कि उसे आग में नहीं जल सकता। हिरण्यकश्यप ने इस अवसर पर योजना बनाई और होलिका को बालक प्रह्लाद के साथ एक बड़े अग्निकुंड में बैठा दिया। होलिका का यह विश्वास था कि वह जलने की बजाय सुरक्षित रहेगी। परंतु, भगवान की भक्ति में रत प्रह्लाद को कोई बाधा नहीं हो सकती थी। जब होलिका ने अग्नि में प्रह्लाद को जलाने का प्रयास किया, तो उल्लंघनशील बहादुर भक्त प्रह्लाद अचिंत्य रूप से अस्पष्ट हो गए, जबकि होलिका आग में समाहित हो गई।

इस घटना ने बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक बनाया और होली का पर्व इस महत्वपूर्ण कथा की स्मृति में मनाया जाता है। होली का यह अंश दिखाता है कि भलाई और धर्म की हमेशा जीत होती है, चाहे कितनी भी बड़ी हो विघ्नेश्वरी कठिनाई।

(Essay on Holi in Hindi)- होली में रंगों का क्या महत्व है? होली कैसे खेलते है?

होली एक ऐसा त्योहार है जो रंगो के साथ मनाया जाता है। दिन की शुरुआत गीले रंगो से होती है। कोई पिचकारियों में रंग भर के खेलता है तो कोई गुब्बारों में। इसी तरह शाम होते ही सब नहा धोके अपने रिश्तेदारो और दोस्तो से मिलने उनसे मिलने जाते है। और गुलाल (यानि सूखा रंग) लगा के होली की परम्परा को बरक़रार रखते है।

अलग-अलग तरह की होती है होली-

भारत में अलग अलग जगह अलग अलग तरहा से होली खेलने की परंपरा है। कही लोग इसे रंगो के साथ खेलते है तो कही फूलो के साथ, कही गुब्बारों में रंग भर के होली खेली जाती है। वही मथुरा में पुरुषो को लठ मार के होली खेली जाती है वही पुरुषो को एक ढाल दी जाती है जिससे वो लठ की मार से बच सके। उत्तर प्रदेश के हरियाणा राज्य में हंटर वाली होली बहुत प्रसिद्ध है। भारत के हर कोने में अलग अलग ढंग से होली इसी तरह कई वर्षो से मनाई जा रही है।

(Essay on Holi in hindi) होली खेलने के सुरक्षित तरीके-

होली का त्योहार (Holi Festival) रंगो का त्योहार है। इस दिन हर एक इंसान रंगो में नहाया हुआ होता है। लेकिन इस मौज मस्ती में लोग अपने बॉडी का ख्याल करना भूल जाते है। उन्हें इन बातो का ख्याल ज़रूर रखना चाहिए-

  • सबसे पहले अपने पुरे शरीर और बालो पे अच्छी तरहा तेल या मोस्टीराइज़र लगाए।
  • होली में इस बात का ख्याल रखे की किसी पे ज़बरदस्ती रंग न लगाए।
  • होली में पानी की बर्बादी न करे।
  • ज़याद से ज़्यादा आर्गेनिक रंगो का इस्तेमाल करे जिससे आप एलर्जी से बच सकते है।
  • होली में किसी के साथ ज़बरदस्ती करके रंग न लगाए और न किसी को छेड़े।
  • होली का त्योहार रंगो का त्योहार है इसे साफ़ सुथरा बनाए रखे ताकि घर की औरते और बच्चे भी इसे मज़े से एन्जॉय कर सके।

(Essay on Holi in Hindi)- होली पर 10 लाइन का निबंध

  1. होली रंगो का त्योहार है।
  2. होली भारत के प्रमुख त्योहारो में से एक है।
  3. होली के त्योहार को प्रह्लाद के याद में मानया जाता है।
  4. बुराई पर अच्छाई की विजय प्राप्त करने के रूप में होलिका जलाई जाती है।
  5. होली पे रंगो को अलग अलग ठंग से खेला जाता है। कोई गुब्बारे में भर के खेलता है तो कोई पिचकारी में।
  6. होली के दिन सभी रिश्तेदार, एक दूसरे के घर होली मिलने जाते है।
  7. बच्चे से लेकर बूढ़े सब ही बड़े ही प्यार से इस त्योहार का आनंद उठाते है।
  8. होली हिंदुओं का सबसे प्रिय त्योहार है।
  9. होली के दिन हर घरो में गुजिया, पापड़ और ढेर सरे पकवान बनाए जाते है।
  10. होली हर धर्म के लोग के लिए खास त्योहार है।

आशा है कि आपको हमारी Essay on Holi in Hindi पोस्ट पसंद आई होगी। इसी तरहा के कोट्स पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट http://preparationlab.com के साथ बने रहें।

Also Read:

Speech On Republic Day In Hindi

Essay On Cow in Hindi

New Year Quotes in Hindi

Leave a Comment