लोहड़ी पर निबंध – Essay on Lohri in Hindi

लोहड़ी पर निबंध (Lohri Essay in Hindi) – Lohri festival essay

हमारे भारत देश में कई तरह के त्योहार मनाए जाते है। भारत में हर मज़हब के लोग रहते है और हर मज़हब अपने त्योहारों को बड़ी ही खूबसूरती से मनाता है। यहाँ के लोग हर त्योहार को मिलजुल के मनाते है। हर त्योहारों को मनाना हम सबकी ज़िम्मेवरिया भी है और कर्तव् भी। इस लिए हमें हर त्योहार उमग और जोश के साथ मानना चाहिए।यूतो साल की शुरूआत (Lohri Festival ) से होती है। हमने अपने आज किस पोस्ट में लोहड़ी पर निबंध (Lohri Essay In Hindi) लोहड़ी के बारे में सारी जानकारी दी है। लोहड़ी के बारे में जानने के लिए हमारी पोस्ट को पूरा पढ़े।

जाने कब और कैसे मनाया जाता हैं लोहड़ी का त्योहार – Essay On Lohri In Hindi :

लोहड़ी पंजाबियो का खास त्योहार है।यह पंजाब के साथ साथ पुरे भारत में बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है। यह त्योहार हर साल मकर संक्रांति से एक दिन पहले यानि जब ठंड हड्डियों तक कंपाती है तब 13 जनवरी के दिन, उत्तर भारत के आंगन में रंग-बिरंगी खुशियां घूमने लगती हैं। कहा जाता है की जब साल की सबसे छोटा दिन और सबसे लम्बी रात होती है इस दिन अलाव जलाके कड़कड़ाती सर्दी को विदाई देते है और आने वाले बसंत के स्वागत का उज्ज्वल अध्याय करते है।आग की लपटों के इर्द-गिर्द गूंजते लोकगीत और नृत्य करके मीठे पकवानो के साथ त्योहार का आनंद लेते है। उसी आग में मूँगफली, मक्की के दाने भी डाले जाते है।

लोहरी पे लोकगीत और परंपराएं :

लोहरी पे मीठी धुन गूंजती हैं। लोहड़ी सिर्फ पंजाबियों का विशेष त्योहार है। इसे वे बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। यह सिर्फ आग का पर्व नहीं, बल्कि लोकगीतों और परंपराओं का भी संगम है। ढोल की थाप के साथ सरे पंजाबी लोकगीतों पे नाचते है। ढोल पंजाबियो की शान होती है। और इसी से इनकी उम्मीदो का सिलसिला बना रहता है। कई ऐसे प्रसिद्ध गीत है जइसेएह गाते है जैसे ‘लोही वे’ और ‘सुंदर मुंदरियां’ जोकि लोहरी आने से 15 दिन पहले से गाने लगते है। एक कपडे से बानी थैली बच्चे इसे लेकर घर घर जाते है और लोकप्रिय गीत गाते है। इन गीतों में जितने भी वीर शहीदों का नाम लेकर उन्हें याद किया जाता है। बदले में घर वाले उन्हें पैसे, रेवड़ी, और गुड़ देते है।

(Essay On Lohri In Hindi) लोहरी पे परात और पकवान :

लोहरी के त्योहार पे भोजन का बहुत महत्व है। पंजाबीयो के हर त्योहार बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है। सरसों का साग, मक्के की रोटी पंजाबी व्यंजन में से एक है इसकी खुशबु आँगन से उठ कर आस पास के घरो तक फेल जाती है। गजक और रेवड़ी तो इस उत्सव का और शान बढ़ा देता है।

लोहड़ी बहन बेटियों का त्यौहार :

लोहरी के दिन बहिन और बेटियों को घर पे बुलाया जाता है। और भेट दिया जाता है और मिलजुल के उनका आदर सत्कार किया जाता हैं। नए शादी शुदा जोड़े के लिए लोहरी बहुत खास महत्व रखता है। उन्हें लोहरी की बधाई दी जाती है और नए शिशु के पैदा होने पे इस दिन उन्हें तोहफे दिए जाते है।

उपसंहार –

लोहरी को मानाने के पीछे बहुत सी ऐतिहासिक और धार्मिक कथाओ को बहुत महत्त्व दिया जाता है। लोहरी के दिन दोस्तों और रिश्तेदारों को बधाईया भेजे जाते है। शाम को सूर्यास्त के बाद, लोग एक साथ अलाव जलाके उसके चारो तरफ घेरा बनाकर गीत गाते और नाचते है। लोहरी की अग्नि में रवि की फसल के तौर पर मूंगफली, गुड़, रेवड़ी आदि को अर्पित किया जाता है। लोहरी हमें रिश्तो की मधुरता, प्रेम का प्रतीक, रिश्तो की मधुरता कायम रहने की कामना करता है।

10 लाइन निबंध लोहरी पे (Essay On Lohri 10 Lines)

  1. लोहरी पंजाबियो का प्रमुख त्योहार है।
  2. लोहरी हर वर्ष 13 जनवरी मनाया जाता है।
  3. लोहरी मकर संक्रांति से एक दिन पहले मनाया जाता है।
  4. लोहरी सभी लोग इकठ्ठे हो कर अलाव जला कर खुशिया मानते है।
  5. लोहरी में रवि फसल के तौर पे मूंगफली,गुड़, रेवाड़ी आदि बाटा जाता है।
  6. लोहरी पे अलाव के चारो और लोग संगीत गाते है और नाचते है।
  7. लोहरी पे विवाहित बेटियों को बुलाके भेट दिया जाता है।
  8. लोहरी नए विवाहित जोड़े के लिए खास त्योहार होता है।
  9. लोहरी पे सभी बड़े,बूढ़े, औरते, बच्चे मिलके खुशिया मनाते है।
  10. लोहरी पे सभी विवाहित महिलाओ को श्रृंगार का सामान दिया जाता है।

आशा है कि आपको हमारी  पोस्ट (लोहड़ी पर निबंध Essay On Lohri In Hindi) पसंद आई होगी। इसी तरहा के कोट्स पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट http://preparationlab.com के साथ बने रहें।

Also Read:

Speech On Republic Day In Hindi

Essay On Cow in Hindi

New Year Quotes in Hindi

Essay on Holi in Hindi

Essay On Republic Day In Hindi

Essay on Swami Vivekananda in Hindi

Leave a Comment